विकासपुरुष के रूप में हमेशा स्मरण किये जाते रहेंगे एनडी तिवारी

Web Journalism course

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और यूपी-उत्तराखंड के सीएम रहे एनडी तिवारी का निधन हो गया है। उन्होंने दिल्ली के साकेत अस्पताल में अंतिम सांस ली। तिवारी की छवि विकासपुरुष और सौम्य स्वभाव के नेता की थी।

उनकी निष्ठा कांग्रेस में नेहरू गांधी परिवार के साथ सदैव बनी रही, लेकिन न केवल अलग हुई कांग्रेस के नेताओं अपितु विभिन्न विपक्षी दलों के नेताओं के साथ भी सदा सौहार्द पूर्ण व्यवहार रहा। कठोर से कठोर आलोचना के बाद भी उन्होंने कभी पलटकर हमला नहीं किया। कई बार अवसर आये जबकि विधानसभा में विपक्ष के सदस्यों के हमले का उत्तर देने में उलझने के बजाय वे चुपचाप बैठ जाते थे।

उनकी दृष्टि सदैव विकास पर टिकी रहती थी। चाहे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हों या विपक्ष के नेता या उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, वे सदैव विकासोन्मुख नीतियों को आगे बढ़ाने में लगे रहे।

नरसिंह राव के प्रधानमंत्रित्व काल मेें वे एक बार अर्जुन सिंह के साथ अलग होकर तिवारी कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे, लेकिन सोनिया गांधी के नेतृत्व संभालने पर कांग्रेस में लौट गए। विरोधाभासी चर्चाओं के बीच सर्वग्राही और सर्वस्पर्शी स्वभाव उनकी सबसे बड़ी विशेषता रही। घोर विरोध करने वाला व्यक्ति भी कभी उनका कटु आलोचक नहीं बन पाया। वे विकासपुरुष के रूप में स्मरण किये जाते रहेंगे।