IISF 2018: डॉ. हर्षवर्धन- हर क्षेत्र में है विज्ञान और प्रौद्योगिकी का योगदान

Web Journalism course

लखनऊ। केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में चौथे भारतीय अंतरराष्ट्रीय विज्ञान उत्सव (आइआइएसएफ) के तीसरे दिन का शुभारंभ करने के बाद कहा कि हर क्षेत्र में विज्ञान और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल हो रहा है। पानी, ऊर्जा, ऑक्सीजन के अलावा विकास में भी इसके महत्व को भुलाया नहीं जा सकता है। शहरी विकास से लेकर रेल विकास में विज्ञान का महत्व बढ़ा है। चार साल पहले विज्ञान को किताब से निकाल कर आम लोगों तक पहुचाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ऐसा महोत्सव शुरू हुआ।

उन्होंने कहा कि यह ऐसा क्षेत्र है, जिसका कोई एक सचिवालय नहीं है, हर वैज्ञानिक किसी से कम नहीं है। सूर्य की रोशनी से ऊर्जा बनाने के प्रयोग विज्ञान की ही देन है। अब समझना है कि हम अपने राज्य में इस ऊर्जा का प्रयोग कर रहा हैं। अब तक 12 हजार लोग यहां महोत्सव में आये है। हर पांच राज्य मिलकर ऐसे ही महोत्सव का आयोजन अपने राज्य के नाम से करें। आज से ही इसे करने के लिए काम करना शुरू करें।