निवेशकों की पहली पसंद हैं म्युचुअल फंड, 14 फीसदी बढ़ा निवेश

Web Journalism course

म्युचुअल फंड लगातार निवेशकों को आकर्षित कर रहे हैं। सितंबर में खत्म हुई तिमाही में म्युचुअल फंड एसेट 14 फीसद बढ़कर 24 लाख करोड़ रुपये हो गए हैं। इसकी बड़ी वजह खुदरा निवेशकों की हिस्सेदारी बढ़ना है। पिछले साल इस दौरान यह रकम 21 लाख करोड़ रुपये थी। बता दें कि फिलहाल म्युचुअल फंड उद्योग में कुल 41 कंपनियां हैं। इनके पास जून-अगस्त तिमाही में 23.4 लाख करोड़ रुपये थे। सिस्टैमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) में अच्छी बढ़ोतरी देखने को मिली है।  

इस मामले में सबसे आगे आर्इसीआर्इसीआर्इ प्रूडेंशियल म्युचुअल फंड है। पिछले महीने समाप्त हुर्इ तिमाही में इसके एयूएम 3,10,257 करोड़ रुपये पर थे। आईसीआईसीआई के बाद एचडीएफसी (3,06,360 करोड़ रुपये) और आदित्य बिड़ला सन लाइफ म्युचुअल फंड (2,54,207 करोड़ रुपये) का नंबर आता है। चौथे स्थान पर एसबीआर्इ म्युचुअल फंड (2,53,829 करोड़ रुपये ) है। इसने रिलायंस म्युचुअल फंड की जगह ली है। रिलायंस म्युचुअल फंड के एयूएम 2,40,445 करोड़ रुपये पर हैं। यह पहले चौथे स्थान पर था।