मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 15 सितम्बर से शुरू हो रहे ‘स्वच्छता ही सेवा आंदोलन’ में लोगों से बढ़-चढ़कर भाग लेने की अपील की

Web Journalism course

जौनपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि 15 सितम्बर को पूरे देश में स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा। इसमें जिले के सभी नागरिक बढ़-चढ़ कर भाग लें और इस अभियान में एक घण्टे का समय दें। उन्होंने लोगों से अपील की कि घर के कूड़े को नालियों में न फेंके, उन्होंने कहा कि यहां कई स्थानों पर कूड़ों का अम्बार देखा है, जिला और नगर पालिका प्रशासन उसे अतिशीघ्र नष्ट करें।

मुख्यमंत्री आज यहां टीडी कालेज में उमानाथ सिंह स्मृति सेवा संस्थान के तत्वावधान में प्रदेश के पूर्व मंत्री उमानाथ सिंह की 24 वीं पुण्य तिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जौनपुर पण्डित दीन दयाल उपाध्याय की कर्म भूमि रही है, उन्होंने अंत्योदय का नारा दिया था, वो चाहते थे कि शासन की सभी योजनाओं का लाभ समाज के अन्तिम व्यक्ति को मिले। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयास से 32 करोड़ गरीबों के जनधन के खाते खुले और उसमें 82 हजार करोड़ रूपये जमा हुए। इन खातों के माध्यम से गरीबों में बचत की प्रवृत्ति बढ़ी और उनको योजनाओं का लाभ भी उन खातों के माध्यम से हुआ। यह भष्टाचार समाप्त करने की महत्वपूर्ण पहला कदम रहा। 

श्री योगी  ने कहा कि 2022 तक सभी गरीबों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध कराया जायेगा। एक साल 2017 से 2018 तक 8 लाख 81 हजार गरीबों को आवास उपलब्घ कराया गया। जबकि उसके पहले पूर्ववर्ती प्रदेश सरकार ने इस योजना के क्रियान्वयन में रूचि नहीं लिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत पूरे देश में पांच करोड़ निःशुल्क गैस कनेक्शन दिया गया, जबकि उत्तर प्रदेश में 87 लाख गैस कनेक्शन दिया गया। इसी प्रकार प्रदेश में 52 लाख गरीबों को निःशुल्क गैस कनेक्शन दिया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत उत्तर प्रदेश में 2017 तक 25 लाख शौचालयों का निर्माण हुआ था कि जबकि जुलाई 2018 तक एक करोड़ 25 लाख शौचालय अथवा इज्जतघर का निर्माण किया गया। उन्होंने कहा कि 2 अक्टूबर 2018  तक प्रदेश के सभी गांवों में खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) किया जायेगा।
                       

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि गोरखपुर के आस पास के आठ दस जिलों में बीमारियां के कारण बीआरडी मेडिकल कालेज में विगत 40 वर्षो से अप्रैल से अगस्त तक 100 से अधिक मौतें होती थी, लेकिन स्वच्छता अभियान और स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने से जहां 400 से 500 मरीज भर्ती होते थे, वहीं इस वर्ष 38 मरीज अस्पताल आये और उसमें से मात्र 6 मौतें हुईं। श्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री के  स्वच्छ भारत  मिशन को एक अभियान ही नहीं बल्कि जन आन्दोलन बनना चाहिए।

उन्होंने कहा कि स्व0 उमानाथ सिंह ने तत्कालीन सपा, बसपा की संयुक्त सरकार की अराजकता और गुण्डागर्दी के खिलाफ आवाज उठाकर व्यापारिक संस्थानों की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। 1994 में प्रदेश में अराजकता और गुण्डागर्दी चरम पर थी। उनका कृतित्व और व्यक्तित्व महान है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से एक चिकित्सा विश्वविद्यालस बनाया जायेगा, जिससे प्रदेश के सभी मेडिकल कालेज सम्बद्ध किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि जौनपुर में बन रहे राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कालेज का नाम अमर शहीद स्व0 उमानाथ सिंह के नाम पर रखा जायेगा। उन्होंने सपा और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि धर्म,  जाति, मजहब और गरीबी हटाने की बात करने वाले यह जान लें, देश समाजवाद ,साम्यवाद से नहीं, रामराज्य से चलेगा।

इस अवसर पर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, नगर विकास राज्य मंत्री गिरीश चन्द यादव, जौनपुर के सांसद  व स्व0 उमानाथ सिंह के पुत्र डा0 के.पी. सिंह, सांसद राम चरित्र निषाद ने उमानाथ सिंह को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर विधायक डा0 हरेन्द्र प्रसाद  सिंह, दिनेश चौधरी, रमेश मिश्र, पूर्व विधायक सीमा सिंह, पूर्व विधायक रघुराज सिंह भी मौजूद रहे। अन्त में कालेज के प्रबन्धक और उमानाथ सिंह के अनुज अशोक कुमार सिंह ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.