इन बड़ी बीमारियों से हर महिलाओं को होना चाहिए हमेशा अलर्ट…

Web Journalism course

बिजी शेड्यूल की वजह से आजकल इंसान खुद के लिए टाइम नहीं निकाल पा रहा है। खासकर अगर बात महिलाओं की हो तो उनके पास तो खुद के लिए फुर्सत ही नहीं होती है। महिलाओं की यही लापरवाही उन्हेंं कई बीमारियों के मुंह में ढकेलती है, जिसकी वजह से कई महिलाओं की मौत भी हो जाती है। महिलाओं को बार बार इस चीज के लिए जागरूक किया जाता है कि उनकी हेल्थ उनके लिए बहुत ही ज्यादा महत्व रखती हैं, लेकिन इसके बावजूद महिलाएं ऑफिस और घर के चक्कर में खुद के लिए टाइम नहीं निकाल पाती हैं। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

हर महिला को अपना विशेष ध्यान रखना चाहिए, नहीं तो वो किसी ऐसी बिमारी से भी ग्रसित हो सकती है, जोकि उन्हें मौत के मुंह में भी ले जा सकता है। ऐसे में अगर आप समय रहते हुए समझदारी बरतेंगी तो आपको कोई भी ऐसी बिमारी नहीं होगी, जिससे आपकी लाइफ खतरे में पड़ जाए। यूं तो छोटी मोटी बिमारी से हर कोई ग्रसित होता है, लेकिन कुछ बीमारियां ऐसी होती है, जिससे भगवान करे कोई दुश्मन भी ग्रसित न हो। तो जानते हैं कि आखिर महिलाएं अगर अलर्ट रहेंगी तो किन किन बीमारियोंं से खुद बचा सकती हैं।

1.ब्रेस्ट कैंसर

पुरूषोंं की अपेक्षा महिलाओं में बहुत ही ज्यादा यह बिमारी पाई जाती है। ऐसे में हर महिला को चाहिए कि वो इस बिमारी से अलर्ट रहे, ताकि उन्हें यह बिमारी न हो सके। इसके लिए महिलाओं को समय समय पर ब्रेस्ट का अल्ट्रासाउंड या मेम्मोग्राम करवाते रहना चाहिए, ताकि इसका पता शुरूआत में ही चल सके। और समय रहते हुए इसका इलाज हो सके, वरना ये बिमारी जान भी ले सकती है।

2.सर्वाइकल कैंसर

सर्वाइकल कैंसर यूं तो किसी भी उम्र की महिला को हो सकता है,  लेकिन इसका ज्यादा खतरा 35 साल की उम्र के बाद होता है। ये एक ऐसा कैंसर है, जिससे कई महिलाओं की मौत हो जाती है। ऐसे में 18 साल की उम्र के बाद से ही हर तीन साल में महिलाओं को पैप स्मीयर टेस्ट करवाते रहना चाहिए, ताकि इसका जरा भी शक हो तो इलाज संभव हो सके। बता दें कि इस कैंसर की वजह से सालभर मेंं हजारों महिलाओं की मौत हो जाती है, क्योंकि महिलाओं को इसकी जानकारी नहीं होती है।

3.एंडोमेट्रियोसिस

एंडोमेट्रियोसिस एक ऐसी बिमारी है, जोकि गर्भशाय से जुड़ी हुई है। ऐसे मेंं इस बिमारी से महिलाओं को काफी तकलीफ होता है। महिलाएं इस बिमारी से लड़ने में खुद को कमजोर भी मानने लगती हैं। इस बिमारी से बचने के लिए हर महिला को सोनोग्राफी या लैप्रोस्कोपी टेस्ट करवाते रहना चाहिए, ताकि अगर कोई भी गुंजाइश हो तो इसका इलाज फौरन हो सके। यह एक तरह से संक्रमण होता है, जोकि फैलता ही जाता है।

4.हार्ट अटैक

खराब लाइफस्टाइल की वजह से महिलाएं खुद ब खुद इस बिमारी की शिकार हो जाती है। अपना ध्यान न रखने की वजह से और जरूरत से ज्यादा टेंशन लेने की वजह से पुरूषो की अपेक्षा महिलाएं ज्यादा इस बिमारी की शिकार होती हैं। ऐसे में महिलाओं को अपने खानपान पर विशेष ध्यान रखना चाहिए।

5.एनीमिया

एनीमिया एक साइलेंट किलर की तरह होता है, जोकि महिलाओं में ज्यादा पाया जाता है। यह बिमारी महिलाओं को अंदर ही अंदर पूरी तरह से खोखला कर देता है। ऐसे में इस बिमारी से सावधान रहने के लिए हर महिला को अच्छा औऱ पोष्टिक खाना ही खाना चाहिए, ताकि इस साइलेंट किलर से जूझना न पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.