छोटे बच्चों को नहलाने के कुछ आसान तरीके

Web Journalism course

अगर आप भी कुछ समय पहले ही मां बनी हैं या फिर आप मां बनने वाली है, और आपको बच्चे को नहलाना ना आता हो, तो बेफ्रिक हो जाएं। क्योंकि हम आज आपको बताएंगे कैसे छोटे बच्चों को नहलाएं | बच्चों को नहलाते समय आपको काफी आराम और ध्यान से काम करना पड़ता हैं क्योंकि उनकी तव्चा काफी कोमल और नाजुक होती हैं। बड़ों के मुकाबले छोटे बच्चों की तव्चा नाजुक और कोमल होने के साथ ही उनके बाल भी काफी हल्के होते हैं। यहीं कारण है कि छोटे बच्चों के लिए अलग तरह के शेम्पू, क्रीम, साबुन, और लोशन का इस्तेमाल किया जाता है। उन पर किसी भी तरह की चीजों का इस्तेमाल करने से पहले कई तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए।

छोटे बच्चों पर हम कॉस्मेटिक प्रोडक्ट इस्तेमाल नहीं कर सकते क्योंकि इनमें कैमीकल होता है। जो छोटे बच्चों के साथ ही बड़ो के लिए भी अच्छे नहीं होते। इससे बच्चों की स्कीन में रेशेज और एलर्जी होने की समस्या होती है। यहां तक की आपने देखा होगा कि जब छोटे बच्चे चुभने वाले कपड़े पहनते हैं तो उसी में उन्हें कितनी परेशानी होती है। इसलिए बच्चों से जुड़ी हर बात का ध्यान आपको रखना पड़ता है। अगर आप भी अपने नन्हें मेहमान का इंतजार कर रहे हैं या आपके घर में नन्हा मेहमान दस्तक दे चुका हैं, तो आप इसकी तैयारी शुरू कर लें। जाने की उन्हें नहलाते समय कैसे साबुन और शेम्पू का इस्तेमाल करना चाहिए और किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

याद रखें कुछ खास बातें
छोटे बच्चों को उनके जन्म के कुछ दिन बाद से ही शेम्पू और साबुन का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन अगर आपके बच्चे की तव्चा ज्यादा नाजुक और कोमल है तो इस बारे में एक बार अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। उन्हीं से पूछे कि बच्चे को नहलाने के लिए आपको किस तरह के शेम्पू और साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए।

अपने बच्चे को नहलाने से पहले एक बार तेल से अच्छे से मालिश कर लें। उन्हें नहलाने के बाद आप उनकी त्वचा पर मॉश्चराइजर लगा दें। उन्हें नहलाने के बाद मॉश्चराइजर लगाना ना भूले। इससे उन्हें खुजली और जलन नहीं होगी।

ध्यान रखें कि बच्चे को नहलाने के लिए आप ज्यादा ठंडें या गर्म पानी का इस्तेमाल ना करें। उन्हें गुनगुने पानी में ही नहलाएं। आपको बाजार में बेबी के साबुन और शैम्पू आदि बहुत ही आसानी से मिल जाएगें। आजकल बाजार में बच्चों के लिए हर तरह के प्रोडक्ट उप्लब्ध है। अपने बच्चों के लिए कोई भी प्रोडक्ट लेने से पहले उसकी मैनुफैक्‍चरिंग डेट जरूर पढ़ लें और सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि उस प्रोडक्ट में इस्तेमाल होने वाले तत्‍वों के बारे में भी पढ़ लें।

बात अगर आपके बच्चे की हैं तो इस पर सावधानी भी आपको ही बरतनी चाहिए। आपका बच्चा अगर छह महीने से कम का है तो उसके शरीर में साबुन को सीधे ना रगड़े, इससे उसके शरीर में रगड़ हो सकती है। इससे बचने के लिए पहले अपने हाथों में साबुन लगा लें। इसके बाद ही उनकी कोमल तव्चा पर साबुन लगाएं। इससे बच्चे के शरीर में रगड़ नहीं होगी।

अगर आपका बच्चा 3 वर्ष का हैं तो उसे बबल्‍स बाथ न दें। इससे उसके मूत्र मार्ग में संक्रमण होने का खतरा रहता है।

सर्दियां में अपने बच्चे को रोज ना नहलाएं। उन्हें रोज नहलाना जरूरी नहीं है।  आप उन्हें एक या दो दिन का गैप लेकर भी नहला सकती हैं। यहां तक की आपको हर दिन साबुन या शैंपू से भी नहलाने की जरूरत नहीं है, लेकिन स्पंज कराना ना भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.