सीएम कर रहे थे राष्ट्रपति का सम्मान, कैबिनेट मंत्री फरमाते रहे आराम

Web Journalism course

लखनऊ । प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के गठन के बाद से ही बेहद चर्चा में रहे कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी आज इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द की मौजूदगी में भी चर्चा में रहे। वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट समिट के मुख्य अतिथि राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द का जिस समय स्वागत चल रहा था, उस समय पचौरी आराम से कुर्सी पर जमे थे, जबकि राज्यपाल राम नाईक के साथ उप मुख्यमंत्री उनके सम्मान में तब तक खड़े रहे जब तक राष्ट्रपति का स्वागत तथा सम्मान चलता रहा।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आज से तीन दिवसीय एक जिला एक उत्पाद समिट का आयोजन भी सत्यदेव पचौरी का मंत्रालय करा रहा है। सत्यदेव पचौरी प्रदेश में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन मंत्री हैं। आज समिट का उद्घाटन राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने किया।

उद्घाटन के बाद मंच पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द को प्रतीक चिन्ह देने के साथ शॉल उढ़ाकर स्वागत किया। इस दौरान राज्यपाल राम नाईक व उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी खड़े रहे। मंच पर एक ओर सत्यदेव पचौरी आराम से बैठे रहे। इस दौरान वह पानी भी पीने में मस्त रहे। यूपी के खादी ग्रामोद्योग व लधु उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने इस समिट की तैयारी में काफी समय दिया था। कल तक वह हर कोने का निरीक्षण भी करते दिखे।

मंत्री पचौरी का यह कृत्य सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगे। दर्जनों लोगों ने ट्वीट किया। समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सुनील यादव ने तो इस मामले को दलित का उपेक्षा से जोड़ दिया।

उन्होंने लिखा है भाजपा की मनुवादी मानसिकता की इंतहा देखिये। राष्ट्रपति का सम्मान हो रहा है औऱ पंडित सत्यदेव पचौरी आसान से हिल तक नहीं रहे। देश के सर्वोच्च आसन पर विराजमान व्यक्ति के सम्मान में आप इसलिये खड़े नहीं होंगे क्योंकि वो दलित समाज से हैं। आगे लिखा कि भाजपा के दलित प्रेम को बयां करती एक तस्वीर।