कांग्रेस के पूर्व छात्र नेताओं ने राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए लिया संकल्प

Web Journalism course

लखनऊ। प्रदेश कांग्रेस कमेटी में फेरबदल की चर्चाओं के बीच पूर्व पदाधिकारियों की समानांतर गतिविधि भी तेज हो गई है। राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के आह्वान के साथ शुक्रवार को भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) के पूर्व पदाधिकारियों का लखनऊ में जुटान हुआ। कांग्रेस की सत्ता में वापसी कराने के लिए पूर्व एनएसयूआइ और युवक कांग्रेस नेताओं को सक्रिय करने के लिए मंडलस्तरीय बैठकें आयोजित किए जाने का निर्णय लिया गया।

राछासं की बड़ चिंतन बैठक

एनएसयूआइ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुबोध श्रीवास्तव की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में दो दर्जन से अधिक जिलों से आए पूर्व छात्र नेता मौजूद थे। मुख्य अतिथि डॉ. रेहान अहमद खान ने कहा कि अब वक्त आ गया जब प्रत्येक एनएसयूआइ के पूर्व और वर्तमान सक्रिय कार्यकर्ता को कांग्रेस को मजबूत करने में एकजुट होकर संघर्ष कराना होगा। ‘कांग्रेस की बाती है, राहुल गांधी के साथी हैं’, नारे के साथ युवाओं के बीच जाने का फैसला लिया गया। राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लेते हुए कार्यक्रम संयोजक सुबोध श्रीवास्तव ने बताया कि एनएसयूआइ के पूर्व पदाधिकारी विधानसभा क्षेत्रवार प्रभारी बनाए जाएंगे। कांग्रेस के एजेंडे का प्रचार प्रसार करने के लिए मंडलवार बैठकें होगी। संपर्क-संवाद के जरिये आम जनता में कांग्रेस की नीतियों व कार्यक्रमों के साथ भाजपा की विफलताओं का प्रचार भी किया जाएगा।

लखनऊ में विशाल सम्मेलन 

मंडल स्तर पर बैठकों का चरण पूरा करने के बाद एक विशाल सम्मेलन लखनऊ में भी आयोजित किया जाएगा। सुबोध श्रीवास्तव ने बताया कि कांग्रेस की मजबूती के लिए हरसंभव प्रयास होगा। बैठक का संचालन अनूप श्रीवास्तव ने किया। इस मौके पर राजेश द्विवेदी सोनभद्र, अनिल द्विवेदी सीतापुर, तेजप्रताप गोरखपुर, महेश गंगवार बरेली, योगेश पराशर, मोहम्मद इरफान, युसूफ फारूकी उन्नाव, अभिषेक राणा-सुलतानपुर व प्रमोद मिश्रा गोंडा ने विचार व्यक्त किए।युवक कांग्रेस के नवनिर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव 26 जून को लखनऊ आएंगे। मध्य जोन अध्यक्ष अंकित परिहार ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर ग्रहण करने के बाद पहली बार अपने गृह प्रदेश में आने पर यादव का ऐतिहासिक स्वागत किया जाएगा।