जानिए महिलाओं के क्यों कम हैं पैन कार्ड……

Web Journalism course

 

मुंबई। आयकर विभाग के मुताबिक देश में दाे पुरूषाें के मुकाबले एक महिला के पास ही पैनकार्ड है। कुल पैन में 68 फीसदी पुरूष और 32 फीसदी महिलाओं के नाम है। बीते वित्त वर्ष के अंत तक कुल 28.57 करोड़ से ज्यादा पैनकार्ड जारी किये गए।

महिलाओं के नाम कुल 9.12 करोड़ पैनकार्ड हैं जबकि 19.45 करोड़ पुरूष पैनकार्ड धारक हैं। इसकी एक वजह यह भी बताई जा रही है कि ज्यादातर घरों में मुखिया पुरूष हाेते हैं। पुरूष ही तमाम तरह के वित्तीय लेन-देन करते हैं जबकि महिलाओं की तादाद इस मामले में काफी कम है। खास बात ये है कि देश के कुल 101 अरबपतियाें में महज चार ही महिलायें हैं।

25फीसदी से भी ज्यादा पैन 20 साल से ज्यादा और 30 साल से कम उम्र के पुरूषाें ने हासिल किया। इस मामले में 18 से 20 वर्ष वाले पुरूष दूसरे स्थान पर हैं।  12.25% से कुछ ज्यादा पैनकार्ड 20 से 30 वर्ष की महिलाओं ने बनवाए हैं। महिलाओं की पैनधारकाें में संख्या कम होने की वजह से उनकी कुल श्रमिकाें में हिस्सेदारी कम होना भी है।