ईयू से बाहर के डॉक्टरों के लिए नियम आसान करेगा ब्रिटेन

Web Journalism course

ब्रिटिश सरकार यूरोपीय संघ (ईयू) से बाहर के डॉक्टरों और नर्सो के लिए आव्रजन नियम आसान करने जा रही है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा के तहत और ज्यादा डॉक्टरों और नर्सो को अपने यहां बुलाने के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है। उल्लेखनीय है कि सरकार के इस पहल से भारतीय डॉक्टरों और नर्सो को भी फायदा होगा।राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा के प्रबंधक लंबे समय से शिकायत करते रहे हैं कि यूरोपीय संघ से बाहर के प्रशिक्षित कर्मचारियों के लिए सीमा निर्धारित होने के कारण रिक्त पदों को भरना मुश्किल रहता है। प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने आंतरिक मंत्री रहते हुए ईयू से बाहर के प्रशिक्षित कर्मचारियों के लिए सीमा निर्धारित की थी।

इसका मकसद बाहरी कर्मचारियों को आने देने से रोकना था। लेकिन, इसके चलते ब्रिटेन में हर साल यूरोपीय संघ से बाहर के 20,700 प्रशिक्षित कर्मचारियों की कमी रह जाती है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा के तहत ब्रिटेन दशकों तक बाहरी डॉक्टरों को अपने यहां बुलाता रहा। लेकिन, अब इसमें भी हजारों पद खाली हैं।