तुलसी, लू लगने के खतरे को कम करती है

Web Journalism course

तुलसी का पौधा लगभग सभी घरों में मौजूद होता है. तुलसी के पौधे को हिंदू धर्म में पूजनीय माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा मौजूद होता है. वहां पर किसी भी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश नहीं कर पाती है. यह हमारी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है. तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल करने से आप कई बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं. 

1- तुलसी में भरपूर मात्रा में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं. जो लू के लक्षणों को नष्ट करने में सहायक होते हैं. रोजाना एक गिलास ठंडे दूध में तुलसी के दो चार पत्ते डालकर पीने से लू लगने का खतरा कम हो जाता है. 

2- अगर आपको तनाव की समस्या है तो एक गिलास गर्म दूध में तुलसी के पत्तों को डालकर पिएं. ऐसा करने से आपके नर्वस सिस्टम को आराम मिलेगा. इसके अलावा यह इस स्ट्रेस हार्मोन को भी कंट्रोल में रखता है. जिससे तनाव की समस्या दूर हो जाती है. 

3- तुलसी में यूरिक एसिड की मात्रा ना के बराबर पाई जाती है. जिसके कारण इसका सेवन करने से किडनी स्टोन की समस्या ठीक हो जाती है. तुलसी के पत्तों और दूध में भरपूर मात्रा में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं जो सूजे हुए गले और सूखे कफ को जड़ से ठीक करने में मदद करते हैं.